प. पू. आचार्य श्री जनार्दन महाराज की वेबसाइट पर आपका सहर्ष स्वागत है
♦ मुख्य उपक्रम ♦

मुख्य उपक्रम

श्री सत्पंथ मंदिर संस्थान धर्मपीठ में प्रत्येक दिन प्रात: दिव्य घटपाट कलश पूजा सम्पन्न होती है | सवेरे और सांझ समय आरती होकर प्रसाद ग्रहण किया जाता है | दैनंदिन उप्रकम के साथही कुछ सामाजिक-धार्मिक उत्सव भी मनाये जाते है | जैसे की यह ...

१) चैत्र शुद्ध प्रतिपदा नववर्ष का प्रारंभ | इस दिनपर ॐ चिन्ह से अंकित नूतन धर्मध्वजा मंदिरपर लहराई जाति है | सत्संग का आयोजन होता है |
२) चैत्र शुद्ध नवमी - श्रीराम नवमी | श्री राम जन्मोत्सव |
३) वैशाख शु || तृतीय - अक्षय तृतीय | इस दिन के पूर्वी रात को मृत जिवात्मओंकी शंतिप्रित्यार्थ सामूहिक श्रद्धा किया जाता है |
४) गुरुपौर्णिमा - गुरुपूजन | सत्पंथ ग्रन्थ परायण एवं गुरु पादुका पूजन महोत्सव |
५) श्रावण व || अष्टमी - श्रीकृष्ण जन्मोत्सव | श्रावण मासनिमित्त धार्मिक ग्रन्थ परायण और सत्संग आयोजन |
६) श्रावण अमावस्या - " पोळा" वृषभ पूजन | पूर्व रात्रि को महादेव पूजन उत्सव | इस दिन सभी बैलोंका प्रसाद ग्रहण करवाया जाता है |
७) भाद्रपद शु || पक्ष में हरतालिका तृतिया, श्री गणेश चतुर्थी, श्री ऋषि पंचमी उत्सव |
८) अश्विन शु || पक्ष में नवरात्री दुर्गोत्सव | विजया दशमी महोत्सव-सत्संग |
९) कार्तिकी एकादशी और आषाढ़ी एकादशी व्रत मनाया जाता है |
१०) हर महीने में शुद्ध व्दितीया तिथि को रात्रि में चन्द्रदर्शन पूजा | बुधवार की अमावस्या, गुरुवार की प्रतिपदा एवं शुक्रवार को चन्द्रदर्शन का विशेष महत्त्व है | इन दिनों निराहार उपवास कर सायंकालीन पूजा सत्संग पर छोड़ा जाता है |
११) १४ दिसंबर - भूतपूर्व आचार्य ब्र. जगन्नाथजी महाराज पुण्यतिथि महोत्सव | संत संमेलन उत्सव होता है |

इसके अतिरिक्त "सत्पंथ प्रेरणा" नमक त्रैमासिक भी चलाया जाता है और "सत्पंथ दिनदर्शिका" का प्रकाशन हर साल दिसंबर महा में होता है |

शाश्वत घटपाट पुजा योजना

इस योजना के अंतर्गत फैजपुर मंदिर संस्थान में नित्य परत: घटपाट पुजा संपन्न होती है | कोई भी भक्त अपने प्रियजनों की स्मृतिमें अथवा विशिष्ट अवसरपर पुजा संपन्न करा सकता है | मात्र रु. ३१००/- (एकत्तीससौ) की राशि में प्रस्तावित तिथिपर सलग २१ वर्षो तक ग्रह पुजा संपन्न होगी | जिसका आशीर्वाद, श्रेय और प्रसाद सदभाक्तो को घर भेजा जाता है |

आगामी योजना

१) "सदगुरु जगन्नाथजी महाराज स्मृति न्यास" की स्थापना कर उसके द्वारा सत्पंथ का प्रचार, प्रसार करना | सभी संप्रदायोके संतो का प्रतिवर्ष "संत समागम" करवाना | सांप्रदायिक सदभाव बढ़ाना |
२) सत्पंथी साधको की विभागनुसार अद्ययावत सूचि (Directory) बनाना और आवश्यकता नुसार स्नेह संमेलन का आयोजन करना |
३) नैसर्गिक / प्रासंगिक आपदाओ में दीन दुखियोंकी मदद करना |
४) सामाजिक, सांस्कृतिक, शिक्षाविषयक संगोष्ठी का आयोजन करना |
५) आधुनिक गौशाला का निर्माण करना |
६) विस्तृत भक्त निवास का निर्माण करना |
७) अवकाश कालीन "बालक-बालिका संस्कार शिबिर" का आयोजन करना |

निधि उपलब्धि नुसार अन्य भी योजनाये कार्यान्वित करने का विचार है | श्री निष्कलंकी नारायण भगवान आप सभी का मंगल करे !!!
आपके आगमन, सेवा व योगदान की प्रतीक्षा में | जय गुरुदेव |

ॐ नमो श्री निष्कलंकी नारायणय जनादॅनाय, भस्मा यूधाय विद् महे दिव्य नैत्राय धिमही, तन्नो ज्वरहर प्रचोदयात-तन्नो ज्वरहर प्रचोदयात ॐ शांतिः शांतिः शांतिः     


Website Designed & Developed By - JIYAL CHAUDHARI(MUMBAI) - 08976882324
hit counter